Tuesday, November 23

pdf, word, excel, power point, pagemaker जैसी फाइलों को पोस्ट में दिखाइए (digital publication)

कई बार ज़रूरत होती है कि कंप्यूटर की किसी ड्राइव में मौजूद pdf, word, excel, power point, pagemaker या ऐसे ही किसी दूसरे फॉर्मेट की फाइल को ज्यों की त्यों पोस्ट के साथ दिखाया जाए। कई बार कुछ पुस्तकें (स्वलिखित या अन्य) सॉफ्ट कॉपी के रूप में हमारे पास होती तो है, लेकिन उन्हें पोस्ट के रूप में पब्लिश करना लगभग नामुमकिन होता है। टेक्स्ट को पब्लिश भी किया जाए, तो भी उन्हें पुस्तक के रूप में दिखाना संभव नहीं होता। ऐसी स्थिति में यह वेबसाइट कमाल की साबित हो सकती है, जो digital publication की सुविधा मुफ्त में उपलब्ध कराती है।

सबसे पहले आप यह नमूना देखिए।
(ई-मेल या फीड रीडर से पढ़ने वाले पाठक कृपया मूल पोस्ट पर आएं)

 


अंक पूरा पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें 

 असिक्नी नाम की यह पत्रिका करीब 174 पृष्ठ की है और पेजमेकर फॉर्मेट में प्रकाश बादल जी के पास उपलब्ध थी। उन्होंने YUDU नाम की इस वेबसाइट की मदद लेकर इसे डिजिटल फॉर्मेट में प्रकाशित किया और नतीजा आपके सामने है। पोस्ट में इसकी झलक दिख रही है और पूरा पढ़ने के लिए लिंक उपलब्ध है। इस पर क्लिक कर असिक्नी को मूल पुस्तक के रूप में पढ़ा जा सकता है।

pdf फाइल का नमूना यहां देखा जा सकता है। 
(ई-मेल या फीड रीडर से पढ़ने वाले पाठक कृपया मूल पोस्ट पर आएं) Click to view the full digital publication online
Read CV Ing Miguel Zamora.pdf

अगर आप भी किसी फाइल या पुस्तक को डिजिटल रूप से प्रकाशित करना चाहते हैं तो नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक कीजिए

  http://free.yudu.com/publish/upload

 यहां दी गई आसान सूचनाओं को भरिए और अपनी फाइल को डिजिटल पब्लिकेशन के रूप में हासिल कर लीजिए। यहां आपको आपके पब्लिकेशन के लिंक के साथ ही Embed code भी मिलेगा, जिसे पोस्ट के साथ पब्लिश करने पर उसका प्रिव्यू आपकी पोस्ट में दिखाई देगा। किसी तरह की परेशानी होने पर टिप्पणी के जरिए संपर्क किया जा सकता है।

 आभारः इस वेबसाइट की जानकारी श्री प्रकाश बादल जी से हासिल हुई। उनका आभार।

 हैपी ब्लॉगिंग

 क्या आपको यह लेख पसंद आया? अगर हां, तो ...इस ब्लॉग के प्रशंसक बनिए!!

हिन्दी ब्लॉग टिप्स की हर नई जानकारी अपने मेल-बॉक्स में मुफ्त मंगाइए!!!!!!!!!!

Monday, September 20

100 से ज़्यादा फॉलोवर वाले हिन्दी चिट्ठों का शतक

हिन्दी चिट्ठाकारी तेजी से अपने पैर पसार रही है। चिट्ठाजगत संकलक पर 15000 से भी ज़्यादा पंजीकृत हिन्दी चिट्ठे इसकी जीती-जागती मिसाल है। अब एक गहन रिसर्च के बाद मैं आपके सामने एक और पुख़्ता सबूत पेश कर रहा हूं, जो यह साबित करेगा कि जो लोग हिन्दी ब्लॉगिंग को शैशवास्था में ही मानते हैं, वे गलत हो सकते हैं। मेरी रिसर्च का नतीजा है कि अब ऐसे हिन्दी चिट्ठों की संख्या 100 को पार कर चुकी है, जिनके 100 या उससे ज़्यादा फॉलोवर हैं।

किसी ब्लॉग के अधिक फॉलोवर बनने का सीधा सा अर्थ है कि वह ब्लॉग व्यापक जनसमुदाय में पढ़ा जाता है। उसकी सामग्री दूसरे पाठकों को पसंद आती है। ब्लॉग को फॉलो करने का अर्थ यह भी हुआ कि पाठक उसे अपने फ़ीड रीडर में सीधे ही पढ़ना चाहते हैं। वे चाहते हैं कि जैसे ही उस ब्लॉग पर कोई पोस्ट आए, उसकी सूचना उन्हें फीड के जरिए मिल जाए।

शनिवार (18 सितम्बर 2010) को रात 8 बजे हिन्दी चिट्ठों पर रिसर्च के दौरान पता चला कि ऐसे चिट्ठों की संख्या 100 को पार कर चुकी है। सोचा कि इस खुशखबरी को सभी साथियों के साथ बांटा जाए। साथ ही उन चिट्ठों की सूची (लिंक के साथ) प्रकाशित की जाए, जिससे उन चिट्ठों को नहीं जानने वाले पाठक भी उनके बारे में जानकारी ले सकें। सूची इस तरह से है-
Hindi Blog Tips1086 followers
शब्दों का सफर544 followers
महाजाल पर सुरेश चिपलूनकर351 followers
हरकीरत ' हीर325 followers
दिल की बात325 followers
छींटें और बौछारें 304 followers
ताऊ डाट इन260 followers
काव्य मंजूषा254 followers
मेरी भावनायें...255 followers
Vyom ke Paar...व्योम के पार244 followers
GULDASTE - E - SHAYARI241 followers
लहरें227 followers
ज़िन्दगी…एक खामोश सफ़र227 followers
पाल ले इक रोग नादां...222 followers
Rhythm of words... 218 followers
प्रिंट मीडिया पर ब्लॉगचर्चा214 followers
अंतर्द्वंद 214 followers
Hindi Tech Blog - तकनीक हिंदी में210 followers
उच्चारण 205 followers
नीरज205 followers
मेरी कलम - मेरी अभिव्यक्ति205 followers
चक्रधर की चकल्लस 204 followers
अमीर धरती गरीब लोग200 followers
गुलाबी कोंपलें197 followers
गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिष196 followers
रेडियो वाणी191 followers
उड़न तश्तरी .... 190 followers
कुछ मेरी कलम से188 followers
वीर बहुटी185 followers
ज्ञान दर्पण183 followers
मेरी रचनाएँ !!!!!!!!!!!!!!!!! 183 followers
चाँद, बादल और शाम176 followers
KISHORE CHOUDHARY175 followers
सुबीर संवाद सेवा170 followers
स्पंदन SPANDAN167 followers
संवेदना संसार 166 followers
प्राइमरी का मास्टर160 followers
स्वप्न मेरे................ 160 followers
" अर्श " 158 followers
आरंभ157 followers
कुश की कलम 155 followers
JHAROKHA148 followers
अमृता प्रीतम की याद में.....147 followers
ज़ख्म…जो फूलों ने दिये147 followers
आदत.. मुस्कुराने की 145 followers
मनोरमा145 followers
महाशक्ति144 followers
Albelakhatri.com142 followers
कुमाउँनी चेली142 followers
शस्वरं142 followers
ज्योतिष की सार्थकता141 followers
मसि-कागद140 followers
हिंदी ब्लॉगरों के जनमदिन138 followers
कवि योगेन्द्र मौदगिल 137 followers
ललितडॉटकॉम 136 followers
saMVAdGhar संवादघर 135 followers
गठरी135 followers
उल्लास: मीनू खरे का ब्लॉग 134 followers
क्वचिदन्यतोअपि..........!132 followers
शब्द-शिखर132 followers
घुघूतीबासूती131 followers
संचिका 131 followers
देशनामा 130 followers
मेरी छोटी सी दुनिया 129 followers
जज़्बात 128 followers
बिखरे मोती128 followers
.......चाँद पुखराज का...... 127 followers
अनामिका की सदायें ...126 followers
मनोज125 followers
मुझे कुछ कहना है 122 followers
सच्चा शरणम् 122 followers
******दिशाएं****** 122 followers
आनंद बक्षी121 followers
नारदमुनि जी 119 followers
BlogsPundit by E-Guru Rajeev 118 followers
ज़िंदगी के मेले 118 followers
Alag sa116 followers
बेचैन आत्मा116 followers
काव्य तरंग 115 followers
मेरी दुनिया मेरे सपने114 followers
सरस पायस114 followers
नवगीत की पाठशाला 114 followers
पिट्सबर्ग में एक भारतीय113 followers
काव्य तरंग110 followers
मुझे शिकायत हे110 followers
अदालत 110 followers
काजल कुमार के कार्टून 109 followers
अजित गुप्‍ता का कोना109 followers
हृदय गवाक्ष108 followers
Aaj Jaane ki Zid Na Karo108 followers
अंधड़ !106 followers
गीत मेरी अनुभूतियाँ105 followers
एक आलसी का चिठ्ठा104 followers
महावीर 104 followers
रचना गौड़ ’भारती’ की रचनाएं 103 followers
एक नीड़ ख्वाबों,ख्यालों और ख्वाहिशों का 102 followers
कल्पनाओं का वृक्ष102 followers
ZEAL102 followers
MERA SAGAR 101 followers
कुछ एहसास 100 followers
'सतरंगी यादों के इंद्रजाल 100 followers

कुछ ब्लॉग जो सामूहिक लेखन से या संग्रहित सामग्री से चलते हैं और जिनके फॉलोवर्स 100 से ज़्यादा हैं-


भड़ास blog1148 followers
रचनाकार387 followers
चिट्ठा चर्चा 300 followers
नारी , NAARI299 followers
नुक्कड़291 followers
TSALIIM 288 followers
हिन्दीकुंज 279 followers
Science Bloggers' Association272 followers
हिन्दुस्तान का दर्द 233 followers
चर्चा मंच230 followers
माँ !131 followers
चोखेर बाली227 followers
क्रिएटिव मंच-Creative Manch128 followers
ब्लॉग 4 वार्ता 115 followers
ब्लॉगोत्सव २०१०106 followers

अब कुछ ऐसे ब्लॉग्स की सूची, जो इस सैकड़े के बेहद करीब हैं। हो सकता है कि इस पोस्ट के प्रकाशित होने के बाद आपके सहयोग से ये सभी शतक लीग में शामिल हो जाएं।

मुसाफिर हूँ यारों -99 followers
कुछ भी...कभी भी..97 followers
ज्ञानवाणी 97 followers
आदित्य (Aaditya)97 followers
कथा चक्र 97 followers
मानसी97 followers
"हिन्दी भारत"95 followers
चर्चा हिन्दी चिट्ठों की !!! 93 followers
लावण्यम्` ~अन्तर्मन्`92 followers
समयचक्र92 followers
मा पलायनम ! 91 followers
Aawaaz90 followers
मेरे विचार, मेरी कवितायें 90 followers
पराया देश88 followers
Shobhna: The Mystery88 followers
मानसिक हलचल87 followers
गुलज़ार नामा86 followers
THE SOUL OF MY POEMS86 followers
"सच में!"85 followers

कृपया नोट करें-

1. यह सूची शनिवार (18 सितम्बर 2010) को रात 8 बजे की स्थिति पर आधारित है। इस संख्या और फॉलोवर्स की वर्तमान संख्या में अंतर हो सकता है।

2. मैंने इस सूची में यथासंभव उन चिट्ठों को शामिल करने की कोशिश की है, जिन पर मैं लगातार विजिट करता हूं। अधिक फॉलोवर्स वाला अगर कोई चिट्ठा इस सूची से छूट रहा है, तो कृपया टिप्पणी में उसका ज़िक्र कीजिए, जिससे उसे इस सूची में शुमार किया जा सके।

3. फॉलोवर सुविधा केवल ब्लॉगर प्लेटफॉर्म वाले ब्लॉग्स पर ही उपलब्ध है। वर्डप्रेस या स्वयं की होस्टिंग वाले दूसरे कुछ ब्लॉग भी काफी बेहतर हैं, लेकिन उन्हें इस तुलनात्मक अध्ययन में शामिल नहीं किया जा सकता है।

हिन्दी ब्लॉग टिप्स को इस सूची में शीर्ष पर रखने के लिए सभी सुधि पाठकों का शुक्रिया अदा करता हूं।

इस श्रमसाध्य कार्य को पूरा करने में मुझे ताऊ रामपुरिया जी का अथक सहयोग मिला है। मैं उनका आभार व्यक्त करता हूं।

अपडेटः टिप्पणियों से मिली जानकारी के बाद निम्नलिखित चिट्ठे उपरोक्त सूचियों में शामिल किए गए हैं-आरंभ, रचनाकार, ZEAL, क्रिएटिव मंच, ब्लॉगोत्सव २०१०, Science Bloggers' Association, मेरी भावनायें..., THE SOUL OF MY POEMS, Hindi Tech Blog, नवगीत की पाठशाला, गीत मेरी अनुभूतियाँ, महाजाल पर सुरेश चिपलूनकर, काव्य तरंग, 'सतरंगी यादों के इंद्रजाल, अंतर्द्वंद, चक्रधर की चकल्लस


हैपी ब्लॉगिंग

क्या आपको यह लेख पसंद आया? अगर हां, तो ...इस ब्लॉग के प्रशंसक बनिए !!

हिन्दी ब्लॉग टिप्स की हर नई जानकारी अपने मेल-बॉक्स में मुफ्त मंगाइए!!!!!!!!!!

Monday, August 23

क्या आपके ब्राउज़र के रिटायर होने का वक्त आ गया है?

एक वक्त था, जब अधिकतर कंप्यूटरों में वेब ब्राउज़िंग के लिए इंटरनेट एक्सप्लोरर के 5.5 या 6.0 वर्ज़न का प्रयोग होता था। उस वक्त ब्राउज़र्स के मामले में ज़्यादा विकल्प उपलब्ध नहीं थे। उसके बाद मोज़िला फायरफॉक्स आया और उसने ब्राउज़िंग का नया अनुभव दिया। गूगल क्रोम ने ब्राउज़िंग को और भी मज़ेदार बनाया और इसी बीच ओपेरा, सफारी और नेटस्केप जैसे ब्रॉउज़र भी लोगों को अपनी ओर आकर्षित करते रहे।

आज भी भले ही लैपटॉप्स पर आधुनिक ब्राउज़र्स देखने को मिल जाएं, लेकिन ज़्यादातर डेस्कटॉप पर इंटरनेट एक्सप्लोरर (IE) का 6.0 वर्ज़न ही देखने को मिलता है। कुछ साथियों ने ई-मेल भेज कर जानकारी दी है कि उनके जीमेल पर इन दिनों ब्राउज़र को लेकर एक खास मैसेज आ रहा है।
You're using an old version of Gmail which will be retired in September. At that point, you'll be redirected to a basic HTML view. To get faster Gmail and the newest features, please upgrade to a modern browser.

अगर आपके जीमेल खाते में भी सबसे ऊपर इस तरह का मैसेज दिखाई दे रहा है, तो आपको अपने वर्तमान ब्राउज़र को रिटायर कर देना चाहिए। जीमेल के सभी फीचर्स के बखूबी इस्तेमाल के लिए आपको निम्न में से किसी ब्राउज़र का आधुनिक वर्ज़न अपने कंप्यूटर में इंस्टाल करना होगा।

गूगल क्रोम

फायरफॉक्स 2.0+

इंटरनेट एक्सप्लोरर 7.0+

सफारी 3.0+

ओपेरा 9.5+


यदि आपके कंप्यूटर में इनके पुराने वर्ज़न हैं, तो आपको इनके आधुनिक वर्ज़न इंस्टॉल करने होंगे। इसके लिए आप नीचे दी गई कड़ियों का इस्तेमाल कर सकते हैं।


अब कुछ सवाल व उनके जवाब

सवाल- अगर मैं अपने ब्राउज़र को अपडेट नहीं करूंगा तो क्या होगा।
जवाब- आप सिंतबर महीने के बाद जीमेल की समस्त सेवाओं का इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे। मसलन टैक्स्ट, वीडियो व ऑडियो चैट आदि। आपको इसके बेसिक एचटीएमएल व्यू पर रिडायरेक्ट कर दिया जाएगा। इसके अलावा आप यूट्यूब जैसी कई दूसरी साइट्स को भी बखूबी नहीं देख पाएंगे।

सवाल- ब्राउज़र को अपडेट करने के क्या फायदे हैं?
जवाब- जीमेल जैसी साइट्स रनिंग वेब एप्लीकेशंस हैं, जो ब्राउज़र तकनीक पर निर्भर है। आधुनिक ब्राउज़र इस तरह की वेबसाइटों के खुलने की स्पीड दोगुना तक बढ़ा देते हैं?

सवाल- क्या ब्राउज़र अपडेट करने के लिए मुझे किसी तरह भुगतान करना होगा।
जवाब- नहीं, अधिकतर वेब ब्राउज़र इंटरनेट पर मुफ्त डाउनलोड करने के लिए उपलब्ध हैं। ऊपर कुछ के लिंक दिए गए हैं।

सवाल- मुझे कौनसा ब्राउज़र इस्तेमाल करना चाहिए।
जवाब- पसंद आपकी है। सभी ब्राउजर्स में अपनी खूबियां-खामियां हैं। अगर आप इंटरनेट एक्सप्लोरर पर ज़्यादा सहज हैं तो इसी का आधुनिक वर्ज़न के साथ अपग्रेड कीजिए। मेरी पसंद गूगल क्रोम है। मोज़िला फायरफॉक्स भी बुरा नहीं है।

उम्मीद है कि आप अपने पुराने ब्राउज़र को जल्द ही ससम्मान रिटायर करेंगे। इस संबंध में कोई परेशानी हो तो टिप्पणियों के माध्यम से संपर्क किया जा सकता है।

हैपी ब्लॉगिंग

क्या आपको यह लेख पसंद आया? अगर हां, तो ...इस ब्लॉग के प्रशंसक बनिए !!

हिन्दी ब्लॉग टिप्स की हर नई जानकारी अपने मेल-बॉक्स में मुफ्त मंगाइए!!!!!!!!!!

Saturday, August 14

ब्लॉगर पर कमेंट्स से जुड़ीं दो नई सुविधाएं

पिछले एक-दो दिन से आप अपने ब्लॉगर डैशबोर्ड पर कमेंट का नया विकल्प देख रहे होंगे। ब्लॉगर ने अपने कमेंटिंग सिस्टम में बदलाव किया है और इसमें दो नए विकल्प जोड़े हैं। पहला विकल्प है- कमेंट स्पैम फिल्टरिंग यानी अवांछित टिप्पणियों की स्वचलित छंटनी और दूसरा विकल्प है- ब्लॉग की सभी टिप्पणियों को एक ही जगह पर देखने की सुविधा (ई-मेल इनबॉक्स की तरह)।

अब आसान शब्दों में इन सुविधाओं को विस्तार से जानते हैं।

अवांछित टिप्पणियों की स्वचलित छंटनी (Comment Spam Filtering)

ब्लॉग पर टिप्पणियों का बड़ा महत्व है। दुर्भाग्य से कुछ ब्लॉगकंटक प्रविष्ठियों पर इस तरह की टिप्पणियां करते हैं, जिन्हें आप अपने ब्लॉग पर नहीं रख सकते। इस तरह के अनचाही (स्पैम) टिप्पणियों से बचने के लिए अभी तक कमेंट मॉडरेशन, वर्ड वेरिफिकेशन या पंजीकृत पाठकों को ही कमेंट की अनुमति जैसी सुविधाएं थीं। लेकिन ये सभी सुविधाएं टिप्पणियों के निर्बाध यातायात में बाधक हैं।

अब ब्लॉगर ने इन कमेंट्स से पीछा छुड़ाने के लिए स्पैम फिल्टरिंग तकनीक का इस्तेमाल किया है। जिस तरह से आप अपने जीमेल अकाउंट में किसी मेल को स्पैम या नॉट स्पैम के रूप में चिन्हित करते हैं, वही तकनीक अब ब्लॉगर में भी काम करेगी। इसके लिए अब ब्लॉगर के डैशबोर्ड पर आपको “Comments” टैब दिखेगा। इस टैब के तहत आपको तीन तरह की सुविधाएं नजर आएंगी। पहली सुविधा स्पैम है।


इस टैब में वे सभी कमेंट्स दिखेंगे, जो स्पैम हो सकते हैं। अर्थात ब्लॉगर का स्वचलित तंत्र जिन कमेंट्स को अनचाहा समझता है, उन्हें इस श्रेणी में डाल देता है। ये कमेंट्स सीधे ही ब्लॉग पर पब्लिश नहीं होते। आप इस श्रेणी में जाइए और देखिए कि मौजूद कमेंट्स आपके काम के हैं या नहीं। आप यहां किसी कमेंट को हमेशा के लिए डिलीट कर सकते हैं। अगर कोई कमेंट गलती से इस श्रेणी में आ गया है तो आप उसे Not Spam कर सकते हैं, जिससे भविष्य में उस पाठक के कमेंट्स इस श्रेणी में नहीं आए। जैसे ही आप किसी कमेंट के Not Spam पर क्लिक करेंगे, यह आपके ब्लॉग पर प्रकाशित हो जाएगा।

सभी टिप्पणियां एक जगह (Comments “Inbox”)

अब आप ब्लॉगर के डैशबोर्ड पर अपने सभी कमेंट्स एक ही जगह पर पा सकते हैं। Comments में Published नामक सब-टैब दिया गया है, जो बिल्कुल किसी ई-मेल इनबॉक्स की तरह दिखता है। इस सुविधा के जरिए आप पुरानी पोस्ट पर आए नए कमेंट्स को आसानी से ढूंढ़ सकते हैं। यहां भी आप किसी कमेंट को स्पैम के रूप में चिन्हित कर उसे तुरंत अपने ब्लॉग से हटा सकते हैं। आप किसी कमेंट को डिलीट भी कर सकते हैं और चाहें तो किसी कमेंट की सामग्री को निकाल कर (Remove Content) उसे अपने रिकॉर्ड में बरकरार रख सकते हैं।


जो साथी कमेंट मॉडरेशन का इस्तेमाल करते हैं, उनके लिए ई-मेल में भी स्पैम की सुविधा मौजूद है। वे सीधे ही उसे स्पैम के रूप में चिन्हित कर सकते हैं।

इस विषय पर अधिक जानकारी इस पोस्ट में दी गई है।

ध्यान दें-

1. भले ही दीर्घ अवधि में यह सुविधा काफी काम की साबित हो, लेकिन फिलहाल इसकी वजह से कुछ समस्याएं भी नज़र आ सकती है। हिन्दी ब्लॉग टिप्स की स्पैम लिस्ट में एक सुधि पाठक का निम्न कमेंट नज़र आया, जिसे तुरंत Not Spam कर दिया गया। आपको सलाह दूंगा कि आप अपनी स्पैम लिस्ट को लगातार जांचते रहे।


2. हिन्दी ब्लॉगिंग में कमेंट्स हौसलाअफज़ाई का बड़ा साधन है। अभी तक कई साथी अवांछित कमेंट्स को भी इस वजह से पब्लिश कर देते थे कि इससे उनकी पोस्ट पर कमेंट की संख्या बढ़ती थी। अब उन्हें ऐसा नहीं करना पड़ेगा। वे उस कमेंट के लिए Remove Content का सहारा लें। इससे कमेंट की अनचाही सामग्री भी पाठकों को नहीं दिखेगी और उनकी कमेंट्स की संख्या भी कम नहीं होगी।

3. अब तक ब्लॉग पर कुल कमेंट्स की संख्या का पता लगाने के लिए जावास्क्रिप्ट विजेट का सहारा लेना पड़ता था। अब इसकी ज़रूरत नहीं होगी। Comments में Published नामक सब-टैब में सभी प्रकाशित टिप्पणियों की कुल संख्या स्वतः दिखाई देगी।

उम्मीद है कि नया कमेंटिंग सिस्टम सभी पाठकों को स्पष्ट हो गया होगा। कोई उलझन हो तो टिप्पणी के जरिए संपर्क किया जा सकता है।

स्वतंत्रता दिवस की अग्रिम शुभकामनाएं

हैपी ब्लॉगिंग


क्या आपको यह लेख पसंद आया? अगर हां, तो ...इस ब्लॉग के प्रशंसक बनिए !!

हिन्दी ब्लॉग टिप्स की हर नई जानकारी अपने मेल-बॉक्स में मुफ्त मंगाइए!!!!!!!!!!

Saturday, June 26

New Blogger Features: ब्लॉगर पर ट्विटर और फेसबुक शेयर बटन

ट्विटर औऱ फेसबुक जैसी सोशल नेटवर्किंग साइट्स की पहुंच से पूरी दुनिया चकित है। इन साइट्स के इसी असर को देखते हुए ब्लॉगर ने ब्लॉग पोस्ट को ट्विटर और फेसबुक व अन्य नेटवर्क्स पर शेयर करने की सुविधा दी है। आज ज्यादातर साथी ट्विटर और फेसबुक साइट्स पर मौजूद हैं और उनके साथ पोस्ट को शेयर कर ब्लॉग के ट्रेफिक को बढ़ाया जा सकता है। इस बटन के उपयोग से पाठक को हर पोस्ट के नीचे इसे ट्विटर या फेसबुक पर शेयर करने का विकल्प दिया जा सकता है।


ब्लॉगर अब नया शेयर बटन लेकर आया है। इस बटन को अब हर पोस्ट के नीचे लगाया जा सकता है और आपके ब्लॉग पाठकों को अगर पोस्ट पसंद आती है तो वे इसे आसानी से ई-मेल, ब्लॉगर, गूगल बज, टि्वटर और फेसबुक पर शेयर कर सकते हैं।

वैसे ब्लॉगर की नेवबार पर पहले ही शेयर बटन है। लेकिन अगर इस बटन को पोस्ट के नीचे लगाया जाए तो निश्चित तौर पर यह उपयोगी साबित हो सकता है।

इसे लगाने के लिए अपने ब्लॉग के (डिजाइन) लेआउट में जाइए। पोस्ट के एडिट पर क्लिक कीजिए और शेयरिंग बटन के विकल्प पर टिक कर दीजिए। नीचे दिए गए चित्र की तरह-



ज़्यादा जानकारी इस पोस्ट पर मौजूद है।


नोटः ब्लॉगर ने हाल ही दो नई सुविधाएं और जोड़ी हैं। पहली है बैटर पोस्ट प्रिव्यू और दूसरी है न्यू वीडियो प्लेयर

बैटर पोस्ट प्रिव्यू
पोस्ट को प्रकाशित करने से पहले उसका प्रिव्यू दिखाने की सुविधा ब्लॉगर ने पहले ब्लॉगर इन ड्राफ्ट में ही दी थी। अब यह सभी ब्लॉग्स पर दी जा रही है। ज्यादा जानकारी इस पोस्ट से ले सकते हैं।





न्यू वीडियो प्लेयर
ब्लॉगर का नया वीडियो प्लेयर इस मायने में खास है कि अब पाठक इसे फुल स्क्रीन वर्जन में भी देख सकते हैं। पहली यह सुविधा नहीं थी।

ज्यादा जानकारी इस पोस्ट में है..

हैपी ब्लॉगिंग



क्या आपको यह लेख पसंद आया? अगर हां, तो ...इस ब्लॉग के प्रशंसक बनिए!!

हिन्दी ब्लॉग टिप्स की हर नई जानकारी अपने मेल-बॉक्स में मुफ्त मंगाइए!!!!!!!!!!

Thursday, June 24

ब्लॉगर्स में डिप्रेशन मापने वाले इस सॉफ्टवेयर को तो आना ही था

आप ब्लॉगिंग खुशी-खुशी करते हैं या आप पोस्ट लिखते समय डिप्रेशन या अवसाद में रहते हैं? इजराइल के शोधकर्ताओं ने एक ऐसा सॉफ्टवेयर ईजाद कर लिया है, जो आपकी पोस्ट को देखते ही बता देगा कि इसे लिखने वाले व्यक्ति की मानसिक स्थिति कैसी है? डरिए मत... आपकी पोल फिलहाल नहीं खुलने जा रही है, क्योंकि यह सॉफ्टवेयर अभी केवल अंग्रेज़ी भाषा तक ही सीमित है।

इजराइल की बेन गुरियॉन यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने इस सॉफ्टवेयर को बनाया है और इसे तीन लाख से ज्यादा ब्लॉग्स पर आजमाया जा चुका है। 78 फीसदी मामलों में इसके नतीजे पुख़्ता साबित हुए हैं। कमाल की बात यह कि अगर इसे पता चला कि ब्लॉगर की मानसिक स्थिति सही नहीं है तो यह उसे उचित परामर्श भी देगा।

इसकी विस्तृत जानकारी इस लिंक पर है...

आपको क्या लगता है? हम हिन्दी ब्लॉगर्स को इस तरह के सॉफ्टवेयर की जरूरत है या नहीं :)

हैपी ब्लॉगिंग



क्या आपको यह लेख पसंद आया? अगर हां, तो ...इस ब्लॉग के प्रशंसक बनिए!!

हिन्दी ब्लॉग टिप्स की हर नई जानकारी अपने मेल-बॉक्स में मुफ्त मंगाइए!!!!!!!!!!

Friday, June 4

एक घंटे में गूगल से 3497.62 रुपए पाने का मौका

नहीं, कोई मज़ाक नहीं। यकीन मानिए। गूगल ब्लॉगर साथियों को एक घंटे में 3497.62 रुपए पाने का मौका दे रहा है। इसके लिए न तो कोई विज्ञापन को लगाने या उस पर क्लिक करने का झमेला है और न ही कोई दूसरा मशक्कत वाला काम करने की ज़रूरत है। इसके लिए आपको केवल उसकी Blogger usability study में भाग लेने की जरूरत है। गूगल 17-23 जून के बीच यह स्टडी आपके घर पर ही आपके बताए दिन व समय पर ऑनलाइन करेगा।

गूगल 17-23 जून के बीच यह Blogger usability study करने जा रहा है। इसमें वह आपसे यह पूछेगा कि आप ब्लॉगर के बारे में क्या सोचते हैं। वह आपको ऐसे फीचर भी दिखा सकता है, जो अभी वह तैयार कर सकता है और उन पर आपकी महत्वपूर्ण राय जान सकता है। इस तरह स्टडी के नतीजों से वह ब्लॉगर साथियों की ज़रूरत को बेहतर तरीके से समझने का काम करेगा।

अगर आप इस स्टडी के लिए अपना एक घंटा देना चाहते हैं और इसके बदले 75 डॉलर का गिफ्ट चैक पाना चाहते हैं तो चैक कर लीजिए कि आपके पास यह सब है या नहीं?

- आपकी उम्र 18 साल या उससे ज्यादा होनी चाहिए।

- आपके पास एक कंप्यूटर हो, जो Windows 7/Vista/XP/2000 प्लेटफॉर्म पर चलता हो।

- आपके पास अच्छी स्पीड का ब्रॉ़डबैंड कनेक्शन (DSL, Cable, T1 all fine) हो।

- आपके पास एक फोन हो, जिसका इस्तेमाल आप इंटरनेट पर काम करने के दौरान भी कर सकते हों। स्पीकर-फोन और हैंड्स-फ्री फोन हो तो और भी अच्छा।


अगर आपके पास यह सब है तो आप इस लिंक पर जाइए और अपनी सूचनाएं भरकर अपने मनपसंद दिन व वक्त का चयन कर लीजिए। गूगल द्वारा चयनित होने पर वह आपसे संपर्क करेगा और आपकी बहुमूल्य राय जानेगा। याद रखिए कि 75 डॉलर का गिफ्ट चैक केवल फॉर्म भरने पर नहीं मिलेगा। अगर गूगल इस स्टडी में आपका वास्तविक फीडबैक लेता है, उसी स्थिति में आपको यह उपहार राशि दी जाएगी।

इस स्टडी में भाग लेने के लिए यहां क्लिक कीजिए

इस बारे में और जानकारी यहां दी गई है

चलते-चलते- आज आपके मेल-बॉक्स में भी ब्लॉगर की एक मेल आई होगी, जिसमें वह Blogger and Amazon.com Integration की बात कर रहा है। हिन्दी भाषी साथियों के लिए यह तरीका ज़्यादा उपयुक्त नहीं है, क्योंकि यहां ऑनलाइन शॉपिंग का उतना चलन नहीं, जितना विदेशों में। इसलिए इसके जरिए कमाई मुझे मुश्किल ही लगती है। इसकी और जानकारी आप इस पोस्ट से पा सकते हैं।


हैपी ब्लॉगिंग


क्या आपको यह लेख पसंद आया? अगर हां, तो ...इस ब्लॉग के प्रशंसक बनिए !!

हिन्दी ब्लॉग टिप्स की हर नई जानकारी अपने मेल-बॉक्स में मुफ्त मंगाइए!!!!!!!!!!

Tuesday, May 18

Better Post Preview : पब्लिश करने से पहले देखिए पोस्ट कैसी दिखेगी?

ब्लॉग पर पोस्ट पब्लिश करने से पहले हम अक्सर यह सुनिश्चित कर लेना चाहते हैं कि हमने जो लिखा है, जो तस्वीरें लगाई हैं, वे सब ठीक से दिखेंगी भी या नहीं। ब्लॉगर पर फिलहाल एक 'प्रिव्यू' ऑप्शन है, जो पोस्ट एडिटर कम्पोज बॉक्स पर सबसे दाहिने कोने पर दिखता है। इसके जरिए पोस्ट देखने पर एक सफेद बैकग्राउंड में पोस्ट दिखती है। कई बार यहां सही दिखने वाली पोस्ट हमारे ब्लॉग पर ठीक से नहीं दिखती, क्योंकि ब्लॉग की टेम्पलेट का कलर और डिजाइन कुछ और ही होता है। ऐसे में कई ब्लॉगर साथी अपने ब्लॉग के जैसी ही टेम्पलेट का दूसरा प्राइवेट ब्लॉग बनाते हैं, पोस्ट को वहां पब्लिश कर आश्वस्त होते हैं कि पोस्ट ठीक दिख रही है और उसके बाद ही पोस्ट को अपने ब्लॉग पर पब्लिश करते हैं।

इसी परेशानी को ध्यान में रखते हुए अब ब्लॉगर एक नई सुविधा का परीक्षण कर रहा है। Better Post Preview देने वाली इस सुविधा के तहत आप पोस्ट को पब्लिश करने से पहले ही देख कर अनुमान लगा सकते हैं कि यह पोस्ट आपके ब्लॉग की टेम्पलेट के साथ कैसी दिखेगी। इस सुविधा का इस्तेमाल फिलहाल केवल ब्लॉगर इन ड्राफ्ट की मदद से ही किया जा सकता है। जानकारी के लिए बता दें कि ब्लॉगर अपनी सुविधाओं को सार्वजनिक करने से पहले उनका परीक्षण ब्लॉगर इन ड्राफ्ट पर ही करता है।

अब जानते हैं वह तरीका, जिससे आप पोस्ट को पब्लिश करने से पहले ही जांच सकते हैं कि आपकी पोस्ट आपके ब्लॉग पर कैसी दिखेगी?

1. ब्लॉगर इन ड्राफ्ट खोलिए और इस पर लॉग इन कीजिए।

2. पोस्ट एडिटर में प्रविष्ठि लिखिए, तस्वीरें लगाइए। यहां आपको नीचे की तरफ एक अतिरिक्त बटन Preview दिख रहा होगा।


3. Preview पर क्लिक कीजिए और देख लीजिए कि आपकी पोस्ट यहां कैसी दिख रही है।



आवश्यक संशोधन के बाद आप यहीं से अपनी पोस्ट को प्रकाशित कर सकते हैं।

ज़्यादा जानकारी के लिए यह पोस्ट देखी जा सकती है।

उम्मीद है कि ब्लॉगर इसी तरह अपनी सेवाओं को बेहतर बनाता रहेगा।

हैपी ब्लॉगिंग


क्या आपको यह लेख पसंद आया? अगर हां, तो ...इस ब्लॉग के प्रशंसक बनिए!!

हिन्दी ब्लॉग टिप्स की हर नई जानकारी अपने मेल-बॉक्स में मुफ्त मंगाइए!!!!!!!!!!

Tuesday, April 6

हिन्दी ब्लॉग टिप्स की दूसरी सालगिरह है आज

आज का दिन (6 अप्रैल) हिन्दी ब्लॉग टिप्स के लिए काफी ख़ास है। अतीत को देखें तो दो साल पहले इसी दिन इस छोटे से मंच के जरिए देश-दुनिया में फ़ैले आप जैसे सम्माननीय व सुधि साथियों के साथ जीवंत संपर्क का सिलसिला शुरू हुआ था। सिलसिला अनवरत जारी है और आप लोगों से मिला प्यार, सराहना और अपनापन ही इस ब्लॉग की सबसे बड़ी पूंजी है। आप लोगों के साथ बीता एक-एक लम्हा मेरी ज़िंदगी के सबसे ख़ूबसूरत लम्हों में शुमार रहा है। मैं आप सभी का (व्यक्तिगत नाम इसलिए नहीं ले पा रहा हूं, क्योंकि फ़ेहरिस्त बहुत बड़ी है) आभार जताता हूं कि आपने हिन्दी ब्लॉग टिप्स पर अपना भरोसा जताया और इसे इतना अपनापन दिया।

सालगिरह के मौक़े पर आपके साथ चंद 'गुड न्यूज़' बांटना चाहता हूं। पहली ख़बर यह कि जिस छोटे से पौधे हिन्दी ब्लॉग टिप्स को आपने अपनेपन और सहयोग के नीर से निरंतर सींचा है, वह अब विशाल वृक्ष का स्वरूप लेने की तैयारी में है। इसे एक विस्तृत पेशेवर वेबलॉग के रूप में लॉन्च किए जाने की तैयारियां चल रही हैं। यह परिवर्तन कब और कैसे होना है, इसकी जानकारी जल्द ही सार्वजनिक की जाएगी।

दूसरी ख़बर यह है कि साथियों की तकनीकी सहायता के लिए सप्ताह में किसी एक दिन दो घंटे के लिए एक हैल्पलाइन की शुरुआत की भी योजना है, जिससे ब्लॉगर साथियों की तकनीकी परेशानियों को व्यक्तिगत रूप से समझा और सुलझाया जा सके। इसके लिए संपर्क का ज़रिया फ़ोन और टैक्स्ट-ऑडियो-वीडियो चैट रहेगा। इसकी शुरुआत की घोषणा भी जल्द की जाएगी।

हिन्दी ब्लॉग टिप्स का उद्देश्य ब्लॉगर साथियों के लिए ब्लॉगिंग के अनुभव को सरल और मज़ेदार बनाकर ब्लॉगिंग को बढ़ावा देना है। उम्मीद है कि आप सभी साथियों का सहयोग पूर्ववत मिलता रहेगा.. पुनः आभार।

हैपी ब्लॉगिंग





क्या आपको यह लेख पसंद आया? अगर हां, तो ...इस ब्लॉग के प्रशंसक बनिए !!

हिन्दी ब्लॉग टिप्स की हर नई जानकारी अपने मेल-बॉक्स में मुफ्त मंगाइए!!!!!!!!!!

Tuesday, March 30

क्या ब्लॉगर हिन्दी चिट्ठों को मिटा रहा है?

पिछले कुछ दिन से कई साथी यह सवाल मुझसे फ़ोन पर व ई-मेल के जरिए पूछ चुके हैं। उनका कहना है कि उन्हें कुछ साथियों की यह मेल मिली है कि जल्द से जल्द अपने चिट्ठों बैकअप ले लीजिए, क्योंकि ब्लॉगर अपनी सेवाएं समेटने की तैयारी में है। मैं ऐसे साथियों को यही कहना चाहता हूं कि ब्लॉगर का ऐसा इरादा कतई नहीं है। वह तो दिन-ब-दिन अपनी सेवाओं में विस्तार कर रहा है।

अपने ब्लॉग का नियमित रूप से बैकअप लेना समझदारी भरा कदम है, लेकिन ऐसा इस आशंका के साथ नहीं किया जाना चाहिए कि ब्लॉगर आपके ब्लॉग को मिटा सकता है। ब्लॉगर स्वचलित तौर पर उन्हीं चिट्ठों को मिटाता है, जो उसकी सेवा शर्तों का उल्लंघन करते हैं। ब्लॉगर समय-समय पर अपनी सेवा शर्तों में बदलाव करता है और ताजा नियम-शर्तें यहां पढ़ी जा सकती हैं। साथ ही ब्लॉगर के डिजिटल मिलेनियम कॉपीराइट एक्ट (DMCA) की जानकारी यहां से ली जा सकती है।

करीब डेढ़ महीने पहले ब्लॉगर ने अपने आधिकारिक ब्लॉग पर एक पोस्ट लिखी थी, जिसमें उसने इसी तरह की आशंका का समाधान किया था। इस पोस्ट में नियम व शर्तों के उल्लंघन की ही बात की गई थी।

इसलिए मेरा सुझाव है कि आप इस आशंका को पूरी तरह दूर कर दें कि ब्लॉगर अब किनारा करने के मूड में है। ब्लॉगर तो अपनी जड़ें और मज़बूत करने की कवायद में है और इसी के तहत पिछले दिनों उसने यह सुविधा भी उपलब्ध कराई है कि अब आप बिना किसी तकनीकी ज्ञान के अपनी टेम्पलेट खुद डिजाइन कर सकते हैं। आपको भी ब्लॉगर से इस आशय की मेल पिछले हफ्ते मिली होगी।

आज पुष्पेंद्र जी ने मेल भेज कर यह जानना चाहा है कि अपनी टेम्पलेट खुद कैसे डिजाइन की जा सकती है। अगली पोस्ट में इस पर विस्तृत जानकारी के वादे के साथ.. हैपी ब्लॉगिंग.





क्या आपको यह लेख पसंद आया? अगर हां, तो ...इस ब्लॉग के प्रशंसक बनिए!!

हिन्दी ब्लॉग टिप्स की हर नई जानकारी अपने मेल-बॉक्स में मुफ्त मंगाइए!!!!!!!!!!

Tuesday, February 16

फ़ोकट में बनाइए अपना ब्लॉग एग्रीगेटर

ब्लॉगवाणी, चिट्ठाजगत जैसे एग्रीगेटर्स या चिट्ठा संकलकों का काम है इनसे जुड़े चिट्ठों पर नई पोस्ट के प्रकाशित होते ही उन्हें अपने व्यापक मंच पर दिखाना। ऐसे में यह जिज्ञासा स्वाभाविक है कि आखिर आपके ब्लॉग की जानकारी व सामग्री इन एग्रीगेटर्स तक कैसे पहुंच जाती है। यह कमाल फ़ीड (आरएसएस या एटम) का है। ब्लॉग फ़ीड वह चीज है, जो सिंडिकेशन के जरिए आपके ब्लॉग की सामग्री को सार्वजनिक रूप से साझा करने की सुविधा देती है। जैसे ही ब्लॉग अपडेट होता है, उसकी फ़ीड भी स्वतः ही अपडेट हो जाती है।

अब अगर यह तकनीकी बात आपको उलझाने वाली लग रही है, तो इसे यहीं छोड़ देते हैं। साधारण सी बात करते हैं। क्या आप चाहते हैं कि आप मुफ़्त में अपना ब्लॉग एग्रीगेटर तैयार करें। न तो इसके लिए किसी भी तरह की तकनीकी कुशलता चाहिए और न ही बहुत ज़्यादा वक़्त। इंटरनेट पर कुछ ऐसी वेबसाइट्स मौजूद हैं, जो 10-15 मिनट के समय में आपके मनपसंद ब्लॉग्स का एग्रीगेटर तैयार करने की सुविधा देती हैं। क्या आप अपना ऐसा ही ब्लॉग एग्रीगेटर बनाना चाहेंगे?

विकल्प 1

डेमो के लिए यहां क्लिक करें

विकल्प 2


डेमो के लिए यहां क्लिक करें

विकल्प 1 planetaki.com

यह वेबसाइट आपको अपनी पसंद का प्लेनेट (यानी फ़ीड रीडर/एग्रीगेटर) बनाने की सुविधा देती है। इसके लिए इस पेज पर अपना अकाउंट बनाइए और उसके बाद उन सभी ब्लॉग्स/वेबसाइट्स के पते भर दीजिए, जिन्हें आप अपने एग्रीगेटर में शुमार करना चाहते हैं। इसके बाद यह कुछ ऐसा दिखने लगेगा। आप जिस पोस्ट को पूरा पढ़ना चाहते हैं, उस पर आगे पढ़ें विकल्प पर क्लिक कीजिए और पूरी पोस्ट तस्वीरों के साथ आपके सामने होगी। आप अपनी मर्ज़ी से अपने प्लेनेट को प्राइवेट/पब्लिक कर सकते हैं और यहां मनचाही टेम्पलेट भी बदली जा सकती है।

विकल्प 2 feedcluster.com

यह वेबसाइट आपको बहुत ही आसान और सुविधाजनक एग्रीगेटर बनाने की सुविधा देती है। इसके लिए इस पेज पर अपना अकाउंट बनाइए और उसके बाद उन सभी ब्लॉग्स/वेबसाइट्स के पते भर दीजिए, जिन्हें आप अपने एग्रीगेटर में शुमार करना चाहते हैं। इसके बाद यह कुछ ऐसा दिखने लगेगा। यहां आप दूसरे ब्लॉगर्स को उनका ब्लॉग जोड़ने की सुविधा भी दे सकते हैं और इस रीडर/एग्रीगेटर का विजेट ब्लॉग्स पर लगाने का विकल्प भी दे सकते हैं। इस एग्रीगेटर को पूरी तरह से हिन्दी भाषा में भी तैयार किया जा सकता है। इस वेबसाइट की मदद से बनाए गए कुछ हिन्दी संकलक हैं-

महिलावाणी

ताऊवाणी

ब्लॉगवुड

तो कीजिए इनकी खूबियों और खामियों का विश्लेषण और कुछ महत्वपूर्ण लगे तो सभी के साथ बांटिए।

हैपी ब्लॉगिंग






क्या आपको यह लेख पसंद आया? अगर हां, तो ...इस ब्लॉग के प्रशंसक बनिए !!

हिन्दी ब्लॉग टिप्स की हर नई जानकारी अपने मेल-बॉक्स में मुफ्त मंगाइए!!!!!!!!!!

Monday, January 25

पहली महिला ब्लॉगर कौन हैं ?

नई दिल्ली स्थित इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मास कम्यूनिकेशन में हिन्दी पत्रकारिता का कोर्स कर रहे विकास ज़ुत्शी जी ने मेल भेजी और चिट्ठाकारी में महिलाओं की भूमिका से जुड़े कुछ सवालों के जवाब जानने चाहे। मैंने सोचा कि इन सवालों के जवाबों के लिए आप सुधि ब्लॉगर साथियों की मदद ली जाए।

आशीष सर, आपसे कुछ सवाल पूछने थे,

1 ) पहली महिला ब्लॉग पोस्ट / ब्लॉगर होने की सूचना क्या आप मुझे बता सकते हैं ?


2 ) ब्लॉगिंग के क्षेत्र में महिलाओं कि क्या स्थिति है ?


3 ) महिला ब्लॉगर इस समय किस क्षेत्र पर अधिक लिख रहीं हैं ?


4 ) कुछ प्रमुख महिला ब्लोगेर्स / ब्लॉग्स के बारे में भी सूचना देने की कृपा करें

इसके साथ अगर आप कोई और सूचना इस विषय पर दे सकें तो आभार होगा,
जवाब का इंतज़ार है




आपकी ओर से दी जानी वाली बहुमूल्य जानकारी का विकास जी को इंतजार है।

हैपी ब्लॉगिंग







क्या आपको यह लेख पसंद आया? अगर हां, तो ...इस ब्लॉग के प्रशंसक बनिए ना !!

हिन्दी ब्लॉग टिप्स की हर नई जानकारी अपने मेल-बॉक्स में मुफ्त मंगाइए!!!!!!!!!!

पिछली पोस्ट के हमसफरः Richa जी, Dr. Amar Jyoti जी, महफूज़ अली जी, मनोज कुमार जी, hiral जी, रावेंद्रकुमार रवि जी, Kulwant Happy जी, Ratan Singh Shekhawat जी, प्रकाश पाखी जी, पं.डी.के.शर्मा"वत्स" जी, हिमांशु जी, Udan Tashtari जी, िकरण राजपुरोिहत िनितला जी, ताऊ रामपुरिया जी, काजल कुमार Kajal Kumar जी, नरेश सिह राठौङ जी, अरुण साथी जी, Etips-Blog, Priya जी, vinay जी, Devendra जी, मीत जी, Ramgopal Vishwakarma जी, काशिफ़ आरिफ़ जी और Mishra Pankaj जी

Wednesday, January 20

लगाइए सर्च को धार - रिफाइन सर्च के चंद फॉर्मूले

सर्च इंजन में सामग्री ढूंढ़ते समय कुछ छोटी-छोटी टिप्स वक्त भी बचा सकती हैं और मेहनत भी

इंटरनेट पर मनचाही सामग्री की तलाश के लिए मदद ली जाती है सर्च इंजन की। सामग्री से जुड़े की-वर्ड को जैसे ही सर्च इंजन में डाला जाता है, हजारों रिजल्ट मिलते हैं। अब समस्या शुरू होती है कि इनमें से कौनसे पेज को खोलकर देखा जाए, जिसमें जरूरत के मुताबिक सामग्री मिल सके। एक-एक कर पेज खोले जाते हैं और उसी रफ्तार से बंद भी कर दिए जाते हैं। अगर किस्मत अच्छी है तो जल्द ही सामग्री मिल जाती है और अगर आप किसी खास चीज को तलाश कर रहे हैं, तो हो सकता है कि इसके लिए कई घंटे लग जाएं। गहन और सटीक सर्च के लिए सर्च इंजन की भाषा समझना जरूरी है। इसके कुछ छोटे-छोटे नियम हैं, जो आमतौर पर काम में नहीं लिए जाते। अगर इन नियमों का ध्यान रखा जाए तो न केवल सर्च काफी धारदार हो जाएगी, बल्कि वक्त और मेहनत की भी बचत होगी। सर्च को धारदार बनाने के लिए जानिए कुछ टिप्स-

की-वर्ड्स का चयन

सर्च के लिए आपको सही की-वर्ड का निर्धारण करना होता है और दूसरे नतीजों के लिए विकल्प भी तैयार रखना होता है। जैसे अगर आप ब्लॉग के लिए टेम्पलेट ढूंढ रहे हैं और holidays singapore से आपको मनचाहे रिजल्ट नहीं मिल रहे हैं तो singapore vacation को आजमा सकते हैं। अगर आपको शब्दों की सही स्पेलिंग नहीं आती तो परेशान होने की जरूरत नहीं है। गूगल और याहू जैसे अधिकतर सर्च इंजन इस मामले में इंटेलिजेंट हैं और सही स्पेलिंग खुद-ब-खुद सुझा देते हैं।

कैटेगरी का चयन

कई बार सही कैटेगरी नहीं चुनने की वजह से भी सर्च में समस्या आ सकती है। मसलन अगर आप भारत-बांग्लादेश टेस्ट मैच की ताज़ा जानकारी तलाश रहे हैं तो आप वेब की बजाय न्यूज कैटेगरी में जाइए। अगर आप वेब कैटेगरी में तलाशेंगे तो ऊपर के नतीजों में आपको इन टीमों से जुड़ी पुरानी जानकारी भी मिल सकती है। जबकि न्यूज कैटेगरी में सबसे ऊपर ताजा जानकारी मिल जाएगी। इसी तरह इमेज, ग्रुप, मैप आदि कैटेगरी को चुनकर आप सर्च को शार्प कर सकते हैं। आजकल गूगल सर्च इंजन में वेब कैटेगरी में भी एक रिजल्ट न्यूज कैटेगरी का दिखाया जाता है।


प्रिपोजिशन हटाएं

सर्च इंजन इस तरह डिजायन किए गए हैं कि अधिकतर प्रिपोजिशन उनके लिए बेमानी हैं। मसलन and, of, for, in जैसे शब्दों को ये इंजन अपनी सर्च में शामिल नहीं करते। इसलिए बेहतर है कि की-वर्ड्स में इस तरह के शब्दों का प्रयोग नहीं किया जाए। इसके अलावा आप सर्च के लिए जितने शब्द लिखेंगे, सर्च इंजन उन सभी शब्दों को ढूंढ़ते हैं, भले ही वे मैटर में किसी भी जगह और किसी भी क्रम में क्यों नहीं हो।

फ्रेज को यूं तलाशें

मान लीजिए आपको the long and winding road एक साथ तलाशना है तो इसके लिए उद्धरण चिन्हों (इन्वर्टेड कोमाज) की मदद लेनी चाहिए। अगर आप इसे इन्वर्टेड कोमाज के बीच "the long and winding road" लिखकर सर्च करेंगे तो आपको केवल वे ही रिजल्ट मिलेंगे जिसमें ये सभी शब्द एक साथ इसी क्रम में हैं।

वर्ड नहीं चाहिए

कई बार ऐसा होता है कि आपको clinton पर सामग्री चाहिए पर वो नहीं जिसमें lewinsky के बारे में जिक्र हो। इसके लिए आप एक शब्द के बाद स्पेस देकर माइनस चिन्ह का प्रयोग कर सकते हैं। मसलन अगर आप clinton -lewinsky तलाशेंगे तो आपको वे ही रिजल्ट मिलेंगे जिनमें केवल क्लिंटन है और लेविंस्की नहीं।

यूआरएल सर्च

यूआरएल या वेब एड्रेस में अगर आपको किसी शब्द की सर्च करनी है तो आप inurl की मदद ले सकते हैं। मसलन अगर आपको वे वेब एड्रेस चाहिए जिनमें time शब्द आता हो आप सर्च इंजन में inurl:time लिखकर एंटर करें। सभी रिजल्ट वे ही मिलेंगे जिनके वेब एड्रेस में कहीं न कहीं time शब्द आता है।

परिभाषा जानें

अगर आपको किसी शब्द का अर्थ जानना है तो वेब डिक्शनरी पर जाने की जरूरत नहीं है। अगर आप define:time सर्च इंजन में डालेंगे तो आपको time शब्द की परिभाषा मिल जाएगी। इसी तरह आप दूसरे शब्दों की परिभाषा और अर्थ जान सकते हैं।

आई एम फीलिंग लकी

गूगल सर्च इंजन वक्त बचाने के लिए यह फेसिलिटी प्रोवाइड करा रहा है जिसमें सर्च करते वक्त वही पेज खुलता है जो सबसे रेलेवेंट होता है। इसके लिए सर्च बॉक्स में की-वर्ड लिखकर सर्च की बजाय आई एम फीलिंग लकी बटन को प्रेस कीजिए। सबसे रेलेवेंट साइट के ही खुलने से वक्त की बचत होती है।

हिन्दी में सर्च

अगर आपको अपनी सर्च के नतीजे देवनागरी हिन्दी में चाहिए तो आप इस लिंक की मदद लेकर अपने नतीजे हिन्दी में प्राप्त कर सकते हैं। यहां आप रोमन में लिखिए और ट्रांसलिटरेटर सेवा इसे देवनागरी में बदलकर नतीजे देवनागरी में ही उपलब्ध कराती है।

उम्मीद है कि आपको यह जानकारी पसंद आई होगी।

हैपी ब्लॉगिंग






क्या आपको यह लेख पसंद आया? अगर हां, तो ...इस ब्लॉग के प्रशंसक बनिए ना !!

हिन्दी ब्लॉग टिप्स की हर नई जानकारी अपने मेल-बॉक्स में मुफ्त मंगाइए!!!!!!!!!!
पिछली पोस्ट के हमसफरः Dr. Mahesh Sinha जी, श्रीश पाठक 'प्रखर' जी, वन्दना गुप्ता जी, Etips-Blog, प्रवीण त्रिवेदी ╬ PRAVEEN TRIVEDI , jamos jhalla जी, संगीता पुरी जी, क्रिएटिव मंच, अनुनाद सिंह जी, अजय कुमार झा जी, vivek जी, Ratan Singh Shekhawat जी, पं.डी.के.शर्मा"वत्स" जी, चंदन कुमार झा जी, Richa जी, दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi जी, nadeem जी, डॉ० कुमारेन्द्र सिंह सेंगर जी, PD जी, मनोज कुमार जी, Udan Tashtari जी, shama जी, हिमांशु जी, निर्मला कपिला जी, अविनाश वाचस्पति जी, गौतम राजरिशी जी, प्रवीण शाह जी, सुलभ सतरंगी जी, ज़ाकिर अली ‘रजनीश’ जी, अन्तर सोहिल जी, रंजन जी, अवधिया चाचा जी, रौशन जसवाल विक्षिप्त जी, >,रंजना [रंजू भाटिया] जी, Mishra Pankaj जी, Ramgopal Vishwakarma जी, मीत जी, वाणी गीत जी, डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक जी, मानव मेहता जी, काजल कुमार Kajal Kumar जी, अल्पना वर्मा जी, tarangdarshan जी, सुशील कुमार छौक्कर जी, anjana जी, henpandey जी, Pratik Maheshwari जी औरMohammed Umar Kairanvi जी